अलबादण छोरी | Raj Mawar | Lyrics

नोनीत वर्मा द्वारा निर्देशित हरियान्वी एल्बम सॉन्ग अलबादण छोरी में आवाज राज मावर ने दी हैं। गाने के बोल प्रदीप सिंघवाल ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक वी राज बंधू ने दिया हैं। बिंदर दनौदा शिवानी राघव, नीनू सिंधर,रवि धनोरी और कर्मवीर ने इस लेटेस्ट गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

प्रेमी की तीन साल की यारी सारी जिंदगी में दुःख भरगी गई हैं और वो अपनी प्रेमिका दूर हो गया हैं। प्रेमी के पिता उसे सरकारी अफसर बनता देखना चाहते थे लेकिन उसकी नौकरी की सारी मेहनत धरी को धरी रहेगी। कॉलेज को हवा ने पिता के सारे सपनो पर पानी फेर दिया हैं और उसने अपने पिता का सपना पूरा करने में नाकाम रहा हैं।

Albadan Chhori Song Lyrics

बापू सोच्या करता छोरा लागे अफसर सरकारी
एक अलबादण छोरी ने मेरी मत की कसूती मारी

म्हारा छोरा 10 +2 पास होया घरकान्या ने कॉलेज में ल्याया रे
घणा इंटलीजेंट बने ले टूशन भी ल्याया रे
सब धरी धराई रहेगी जो करी नौकरी की तैयारी
एक अलबादण छोरी ने मेरी मत की कसूती मारी

तीन साल की यारी सारी जिंदगी में दुःख भरगी रे
चढ़ती उम्र में मरजाणी गेल मेरी अल बादलकर गई रे
एक अलबादण छोरी ने मेरी मत की कसूती मारी

कॉलेज की हवा में बाबू के सब सपना पे फेर दे पानी रे
प्रदीप सिंह की गेल्या सच बन रही या कहानी रे
इस रवि धनोरी ते सुनादी या आँख बीती सारी
एक अलबादण छोरी ने मेरी मत की कसूती मारी

अन्य हरियान्वी गाने :