अनपढ़ भरतार | Amit Choudhary | Lyrics

दीपक शर्मा द्वारा निर्देशित हरियान्वी एल्बम सॉन्ग अनपढ़ भरतार में आवाज अमित चौधरी ने दी हैं। इस गाने का म्यूज़िक सपना स्टूडियो ने दिया हैं।अर्चित कुमार और सोनिका सिंह ने इस लेटेस्ट गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

गौरी को उसका पिया अनपढ़ मिल गया और इस वजह से दोनों के मन का मेल मिलाव नहीं हो रहा हैं। उसकी भरी जवानी को देखकर अपने आप पर काबू नहीं रख पा रहा हैं वही गौरी भी अपने आप पर काबू नहीं रख पा रही हैं।
उसका अंग अंग सुना पड़ा हैं और उसकी जवानी को प्यास पिया ही मिटायेगा।

Anpadh Bhartaar Song Lyrics

हाय मेरे अनपढ़ मिले भरतार तने पूरी कसर मिटाई रे
यौवन की गडडी बंधी पड़ी तू खोले ना हरजाई रे

तेरी पूरी कसर काड के जाऊ थोड़ा सबर राख ले रे
हां सभर का फल यो मीठा होवे अपनी साँस थाम ले रे

हा नस नस मेरी तोड़ दिया तने तोड़न से ना नाटूगी
हाय आज पिया जी कसर काड दे तने बोलण ते ना डाटूंगा
तू फ़िक्र मत कर रानी गट गट के मैं बोलूंगा

मेरा अंग अंग यो सुना पड्या पिया नभच या नीली होगी सै
अपने दिल ने आप संभालू मैंने बैचेनी होरी सै
छाती के लाके रखूँगा तू भूलेगी ना प्यार मेरा
तू फ़िक्र मत कर रानी गट गट के मैं बोलूंगा

अन्य हरियान्वी गाने भी देखे :