जब बजे रात के बारह | Ramdiya Litani | Lyrics

जब बजे रात के बारह हरयान्वी गाना सपना चौधरी और मिठू ढुकिआ अभिनीत एक मजेदार वीडियो ट्रैक हैं। हरयान्वी एल्बम हिट्स का यह गाना रामदिया लिटानी ने गाया हैं। इस लेटेस्ट गाने का म्यूज़िक विनयराज ने कंपोज किया व गाने के बोल रामदिया लिटानी की क़लम से लिखे गये हैं। इस गाने का निर्देशन घनु अरोड़ा ने किया हैं।

जब रात बारह बजते हैं तो आशिक अपनी काल्पनिक प्रेमिका के सपनो में खो जाता हैं और सपनो में ही उसके साथ घूमता हैं उसके तंग करता हैं। उसके प्यार में वो पागल सा होगा हैं और सपने में आती जाती प्रेमिका का पीछा करने में लगता रहता था। प्रेमी को प्रेमिका बहुत प्यारी लगती हैं और उससे वो प्यारी भरी बाते करना चाहता हैं।

Baje Raat Ke 12 Song Lyrics

जब बजे रात के बारह तेरा आया याद चौबारा
मैंने सोच्या याद करे सै कोई मानस दिल का प्यारा
तेरे बिन जी मेरा नहीं लागे आँख मेरी सो सो ने जागे

आंदी जांदी करे इशारे मत जोबन चूर रहे सै
प्यार तेरे में पागल सु मैंने हरदम तेरी बाट रहे
देखे रे मेरे यार मैंने न्यू कहवे सै भाई रे तेरा प्यार कसुता लागे
तेरे बिन जी मेरा नहीं लागे आँख मेरी सो सो ने जागे

दूर खड़ी क्यों बात करे तू आजा ने तेरी पोली भरदु
चीज की कसूती घडी राम ने वि जोर तने मैं धरलू
तेरे ते दो बात प्रेम की करलू मैंने घनी प्यारी सी लागे
तेरे बिन जी मेरा नहीं लागे आँख मेरी सो सो ने जागे

अन्य हरियान्वी गाने :