बालका का बाबू | Kavita Sabu | Lyrics

गौतम गोविंदा निर्देशित हरियान्वी एल्बम सॉन्ग बालका का बाबू में आवाज कविता सबु ने दी हैं। गाने के बोल नवीन विशु ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक एस.बी.एम स्टूडियो ने कम्पोज ने कम्पोज किया हैं। सतीश आर्यन और टीना राठौड़ ने इस लेटेस्ट गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

सजनी अपने सैया के बिना अधूरी हैं और उसकी जवानी के दिन ऐसे ही निकले जा रहे हैं। उसकी याद आने पर सजनी अपने आप पर काबू नहीं रख पाती हैं हैं। उसके सैया की ड्यूटी प्रदेश में हैं और सजनी सैया के बिना नहीं रहे पा रही हैं।

Balka Ka Babu Song Lyrics

क्यों ना आया नणद का बीर मैं पुछू मेरी सासु ने
कोन्या सौदी में रह रहिया शरीर दर्द होया पासू में

जिद पे जवानी या क्यों कर डडेगी
नखराभरी रात या कैसे कटेगी
इन हाथा पे देखता लकीर के रोउ हंसु मैं
कोन्या सौदी में रह रहिया शरीर दर्द होया पासू में

जुलमी की याद आवे रहता ना काबू
जी ते प्यारा लागे बालका का बाबू
उसकी ड्यूटी लगे कश्मीर रोज मेरे आंसू में
कोन्या सौदी में रह रहिया शरीर दर्द होया पासू में

अन्य हरियान्वी गाने :