दाल में काला | Raj Mawar | Lyrics

हरियान्वी एल्बम का दाल में काला, जो की एक मजेदार सॉन्ग हैं, इसमे आवाज राज मावर ने दी हैं। गाने के बोल जानू राखी ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक वी राज बंधू ने दिया हैं। जानू राखी और रचना तिवारी ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं। इस गाने के निर्देशक बृजेश लडवाल हैं।

अपनी प्रेमिका के द्वारा आशिक से नहीं मिलने पर उसे दाल में काला लग रहा हैं और उसे शक हो रहा किसी और से सेटिंग करली। पहले दोनों मिलकर प्यार का खेल खेला करते थे लेकिन आज उससे ऐसा कौन आशिक मिला जिससे वो उन सारी बातो को भूल गयी।

Daal Mein Kala Song Lyrics

इब क्यों नहीं आंदि तेरी बाहण के क्यों कर रही सै चाहाला
किसी और से सेटिंग करगी तू मैंने लागे दाल में काला

तने रहण सहण का बैरा ना था इब गिरकावण लागी तू
घनी सुथरी होंदी आवसे इब के खावण लागी तू
इब बात कती ना करती होया मेरी जान का गाला
किसी और से सेटिंग करगी तू मैंने लागे दाल में काला

हम खेल्या करते गेम प्यार का दोनों मिलके रात्या रे
इसा मिल्या तने कोण रे आशिक भूली जो उन बाता ने
कई वे पूछा तेरी बहन पे करया तने क्यों चाहाला
किसी और से सेटिंग करगी तू मैंने लागे दाल में काला

अन्य हरियान्वी गाने: