Daal Mein Kala TR, Mahi Panchal

हरियान्वी एल्बम के न्यू सॉन्ग में आवाज टी.आर और माही पांचल ने दी हैं। दाल में काला गाने के बोल नवीन ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक टी.आर ने दिया हैं। विक्की सद्पुरिया, सोनल खत्री और दीपक अंतिल ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं। इस गाने का निर्देशन एम.पी ने किया हैं।

प्रेमिका अपने प्रेमी से रूठी हुई हैं और उससे बात चीत नहीं रही हैं। प्रेमी अपनी प्रेमिका को मनाते हुये उससे कई वादे कर रहा हैं और उससे अपनी गलती की माफ़ी मांग रहा हैं। लेकिन प्रेमिका प्रेमी की मीठी मीठी बातो में नहीं फंस रही हैं और अभी उसे दाल में काला लग रहा हैं। उसके बिना आशिक जी नहीं सकता हैं और उसकी प्यारी से सूरत प्रेमी के मन में बस गई हैं।

Daal Mein Kala Song Lyrics

दाल में काला लागे से आज तो चाले पाडती तोड़
मेरा के साला लागे से मेरे तो सेपे तेरी मरोड़

अकड़-अकड़ की चाले गात की करारी खींचा तानी
तेरे गात के मोती से ये झड जांगे मरजानी
दाल में काला लागे से आज तो चाले पाडती तोड़

मेरे पे तेरी जाल बेल तने डॅस नागन काली
ओढ़-पहेर के चालू ते तेरी पडजा नज़र कुधाली
जान का गाला लागे से हटा ने दूँगी तोड़

तोळी होज़ा सेट की तेरे कदे तो लाड़ू बाँधेगी
ग़लती होज़ा मेरे ते पंचायत करती हांडेगी
धोली टाइम बतादे ए मैं कदे आउ बंधाके मोड़

अन्य हरियान्वी गाने :