घूँघट | Hardeep Akupuriya,Bholu Jasiya | Lyrics

नया हरियाणवी सॉन्ग घूँघट ताऊ म्यूजिक की तरफ से शानदार प्रस्तुति हैं। यह एक रोमांटिक वीडियो ट्रैक हैं जिसमे आवाज हरदीप अकुपुरिया और भोलू जसिया ने दी हैं।

भाभी घूंघट का फटकारा मारके आशिका का लहू जला रही हैं। भाभी की छम छम पायल बज रही हैं और गांव के छोरे उसकी भरी जवानी को देखकर सिटी पे सिटी मार रहे हैं। पानी भरने जाते समय भाभी की ठुमक ठुमक चाल के आशिक दीवाने हो रहे हैं और उसकी रस से भरी मलाई को खाना चाहते हैं।

Ghunghat Song Lyrics

ओ बोली ऊपर मारे बोली मैं बोलिया ने मारली x2
लुंगाड़े तंग करसे गांव के घूँघट कर कर हारली

ऐ गोरी आपता जापता बंध रह्या तू ना घवराया कर
रे देके घूँघट का फटकारा लहू साला का जलाया कर

(मेरी छम छम बाजे पायल छोरे मरे किलकारी
सिटी पे सिटी मारे मेरे पाछे पड़ी बीमारी) x2
ओ भाभी आगी भाभी प्यार पकड़े के चुन्नी सारली
ओ बोली ऊपर मारे बोली मैं बोलिया ने मारली

(तू ठुमक ठुमक चाल्या कर थोड़ी हंस के फेर लखाजा
खुशबू का डुंडा उठे इसी कातिल अदा बनाजा ) x2
छोटी मोटी बाता ने दिल ते लाया ना कर
रे देके घूँघट का फटकारा लहू साला का जलाया कर

(मेरा रोज का आना जाना उनका आगे बैठ्या पाणा
आई रस की भरी मलाई एक पाछे पड़ा मेरे खाणा) x2
ओ मैंने छोड़ कुंए पे जाना खारे पानी ने सार ली
ओ बोली ऊपर मारे बोली मैं बोलिया ने मारली

अन्य हरियान्वी गाने: