इग्नोर | Harish | Lyrics

हरियान्वी एल्बम के न्यू सॉन्ग में आवाज हरीश ने दी हैं। इग्नोर गाने के बोल कुलदीप जांगड़ा ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक बम्बू बीट ने दिया हैं। हरीश और अंजलि ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं। इस गाने के निर्देशक राज गुज्जर हैं।

प्रेमी की हर बात को प्रेमिका इग्नोर कर रही हैं और रूठ गई हैं। वही प्रेमी को उसकी चुपी बरदास नहीं हो रही हैं और उसके आगे पीछे घूमते हुए मनाने की कोशिश कर रहा हैं। उसका नॉटी सा बिहेव देख प्रेमी का दिल खुश हो जाता था और उसकी यही अदा प्रेमी का दिल घायल कर देती थी।

Ignore Song Lyrics

ना रूठ तू मेरी जान मेरे हंस बतलाने
क्यों इतना तू इग्नोर करे मैंने गले लगाने ने
ना और कोए मेरे मन में कसम में तेरी खाऊ सु
मेरे भीतरले ने पूछ दिल ते कितना चाहु सु

तेरा नॉटी सा बिहेव देख दिल खुश होजावे सै
तेरी याही अदा का दिल दिल ने घायल कर जावे सै
जो तुझसे मुझे मिलाया रब्ब का शुक्र मनाऊ सु
मेरे भीतरले ने पूछ दिल ते कितना चाहु सु

अपने ते रुसे ना इससे कुछ ना मिल्या करे
टूट जा जिस डाली से फूल टूट कर फिर ना खिल्या करे
रहना से दूर मुश्किल यो एहसास कराउ सु
मेरे भीतरले ने पूछ दिल ते कितना चाहु सु

अन्य हरियान्वी गाने :