इश्क़ जाल | Tr, Mahi | Lyrics

हरियान्वी एल्बम के न्यू सॉन्ग में आवाज टी.आर और माही ने दी हैं। इश्क़ जाल गाने के बोल नीरज मांडोठी ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक टी.आर व जी.आर ने दिया हैं। नीरज मांडोठी और मिस अदा ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

लड़की के नैन नशीले ने आशिको का दिल घायल कर रखा हैं और उसकी चढ़ती जवानी को देखकर उसके आगे पीछे घूमते रहते हैं। तारा जिस तरफ गगन में चमकता हैं उसी तरह वो परियो से सुन्दर लगाती हैं।आशिको को उसकी जैसी हूर परी और कोई नहीं लगती हैं और सब उसे अपने दिल की रानी बनाना चाहते हैं।

Ishq Jaal Song Lyrics

आँख नशीली तेरी बिन पीये नशा कर जावे सै
रस टपके ये जोबन का तू कुणसा आटा खावे सै

आगे पाछे हांडे मीठी बात लगावे सै
जाणू मैं सारी कुणसा जाल बिछावे सै

तारा की जु चमके चेहरा परिया वरगी हूर तू
कोये नहीं सै तेरे वरगी हीरे कोहिनूर तू

राणी की जु राखु ये इतनी क्यों घवरावे सै
रस टपके ये जोबन का तू कुणसा आटा खावे सै

फूल सा खिल रहया मेरा जोबन भंवर जु मँडरावे तू
देख मेरा यो हुस्न नजारा अपनी नीत डिंगावे तू
पंक्षी हाथ ना आवे क्यों मन ललचावे रे
जाणू मैं सारी कुणसा जाल बिछावे सै

चाँद ते भी सुथरी के जिक्र करू तेरे बारे में
तेरे वरगे हूर की रानी नहीं जहान सारे में
तेरे ख्याला में खोरा क्यों दिल तडपावे सै
रस टपके ये जोबन का तू कुणसा आटा खावे सै

जितना तू मैंने चाहवे छोरा उतना मैं तने चाहु सु
जान ते ज्यादा प्यार करू मैं सारी बात बताऊ सु
जाणू मैं सारी कुणसा जाल बिछावे सै

अन्य हरियान्वी गाने :