कबूतरी | Raj Mawar | Lyrics

फरिस्ता द्वारा निर्देशित हरियान्वी एल्बम सॉन्ग कबूतरी में आवाज राज मावर ने दी हैं। इस गाने के बोल आकाश जांगड़ा ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक विराज बंधू म्यूज़िक ने दिया हैं। करण मिर्जा, फरिस्ता साना और सुरेंद्र काला ने इस लेटेस्ट गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

आशिक के मन में अपनी प्रेमिक से ज्यादा यारो के लिए जगह हैं और उन खातिर वो अपनी जान भी दे सकता हैं। उसको अपने पराये की अच्छे तरह से पहचान हैं और प्यार का चक्कर छोड़कर उसके लिए सबसे पहले यारी हैं। भाइयो से भी बढ़कर उसके यार आशिक को प्यारे हैं और कभी वो अपने यार के प्रति भेदभाव नहीं रखता हैं।

Kabootri Song Lyrics

दिल में तेरे सु रे मैं यारा की जान रे
कोण अपने पराये रे ना सै कति पहचान रे
छोड़ प्यार का चक्कर तेरे पहले यारा की यारी
तेरा के भरोसा कद मारजा कबूतरी उडारी

ओह तेरे मेरे बीच में मतना तू यारा ने तोल रे
ओ भाइया बरागा लागता ना दे खानज्या मोल रे
तू लाले जितना जोर रे ना निभणी म्हारी
तेरा के भरोसा कद मारजा कबूतरी उडारी

ओ तेरे पाछे रहु मैं ना यार का दिल इतना छोटा
मेरे जबतक जीवे माँ बाप मैंने प्यार का सै टोटा
मैं सब तोता ने जानू सु तू मतना दिखा होशियारी
तेरा के भरोसा कद मारजा कबूतरी उडारी

अन्य हरियान्वी गाने :