कसूर | Raju Punjabi | Lyrics

राजू पंजाबी की आवाज में नया हरियाणवी गाना कसूर जिसमे मेहर रिस्की और मिस अदा एक साथ नजर आएंगे। गीत के प्यारे बोल सतीश सिवानी ने लिखे हैं जबकि म्यूजिक वी.आर ब्रॉस में कम्पोज किया हैं।

प्रेमी को उसकी प्रेमिका बीच मझधार में छोड़के के हमेशा के लिए चली गई हैं और इस बात का दोषी वो ऊपर वाले को बता रहा हैं। अब वो प्रेमिका की प्यार भरी मुलाकातों को याद करके रोये जा रहे हैं और उसकी मीठी मीठी बातो को याद करते अपने दिन काट रहा हैं। ऊपर वालो को दोषी मानते हुये अपना कसूर जानना चाहता हैं।

Kasoor Song Lyrics

तू छोड़ गई मझधार में होया जिणे ते मजबूर
साच बता ऊपर आळे के ये दुनिया का दस्तूर

क्यों कर आज भुला दूंगा मैं मीठी मीठी बाता ने
याद करके रोये जासु प्यार भरी मुलाकाता ने
आके मैंने समझा देने मेरा कुणसा होया कसूर
साच बता ऊपर आळे के ये दुनिया का दस्तूर

प्यार करनीये ऊपर बारिश गम की या बरसादी क्यों
अच्छे खासे जीवन में ही क्यों मालिक के आग लगा दी क्यों
जो भी सपने देखे ते वो होग्यो चकना चूर
साच बता ऊपर आळे के ये दुनिया का दस्तूर

अन्य हरियान्वी गाने :