लच्छन | Sunny | Lyrics

हरियान्वी एल्बम का लच्छन, जो की एक मजेदार सॉन्ग हैं, इसमे आवाज सनी ने दी हैं। गाने के बोल रामेहर मेहला ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक बम्बो बीट ने दिया हैं। सैम वी और पायल ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं। इस गाने के निर्माता सुनील जांगिड़ हैं।

गौरी के रूप रंग के कई आशिक दीवाने हैं लेकिन उसके ऐटिटूड के कारण कोई भी अपनी बात नहीं बढ़ता हैं। उसका रंग रूप सकल सब ठीक हैं बस उसके लक्षण ठीक नहीं हैं। उसे अपनी अमीरी के आगे हर कोई छोटा नजर आता हैं और हमेशा को दुसरो को नीचा दिखाने में लगी रहती हैं।

Lachhan Song Lyrics

घने चोंचले आछे ना तू इतने काटते काचे ना
यू दुनियादारी की पीटिया करदे यू लीक नही
तेरा रंग भी गोरा सकल सुथरी लच्छन ठीक नहीं

तेरे बापू का ब्योत से चोखा या तेरी ख़ुशनसीबी से
बेशक ते अमीरी भोंके से तेरे भीतर भरी ग़रीबी से
कान-क़ायदे की तने कदे सीख सीखी नही
तेरा रंग भी गोरा सकल सुथरी लच्छन ठीक नही

फैशन लाना सिख गयी इब सिख जा बोलना चालना
तेरे फेर समझ आवेगा जद तेरे घर में घलेगा पालना
सुथरी ढाला जीले ना कोई सुनेगा चीख नही
तेरा रंग भी गोरा सकल सुथरी लच्छन ठीक नही

अन्य हरियान्वी गाने :