मचा रखी से लूट | Raju Punjabi, Sushil Nagar | Lyrics

हरियाणा में अपनी गायिक से अलग ही पहचान बना चुके राजू पंजाबी ने मचा रखी से लूट गीत में आवाज दी हैं जिसमे उनका साथ सुशील नागर दिया हैं। गीत के बोल राजेश कड़वासरा ने लिखे व म्यूजिक वी.आर ब्रोस ने कम्पोज किया हैं। गाने में अमित सिंह रावत, ज्योति मीणा, कन्हैया लाल व पूनम यादव ने अपना किरदार निभाया हैं।

प्रेमी अपनी प्रेमिका को गली में आते जाते छेड़ता रहता हैं और उसके गोरे मुखड़े को देख बगैर प्रेमी को चेन नहीं आता हैं। उसकी मोरनी सी चाल देखकर कई आशिक उसके पीछे घूमते रहते हैं। उसकी तिरछी नजर ने कई लडको का दिल घायल कर रखा हैं और उसकी क्यूट सी स्माइल के लोग दीवाने हैं।

Macha Rakhi Se Loot Song Lyrics

गोरे गोरे मुखड़े आली काड्या तने सूट ने
हुस्न के डोरे डाल डाल के घनी मचाई लूट तने

मैं छोरी सु खानदानी समझे ना छिछोरी मैंने
सारी हांड लखाया ना कर दूंगी बेहाल तने

एंडी एंडी सूट पहर के चाल मोरनी चाले सै
जोबन झोले खावे कमर बड़ बैरी सी हाल से

घना टपोरी होरया छोरे ना ल्याया कर गेडे तू
आन्दी जांदी छोरिया ने मरजाने छेड़े ना तू

रूप तेरा का बावली रे रखना चाहिए ख्याल तने
सर ते ऊपर उठा राखी हैं जोबन की या झाल तने

मेरे नजर लगावे ना तू चर्बी तेरे चढ़ रही सै
जीकर होरया सारे गांव में नींद मैंने ना आरी सै

अन्य हरियान्वी गाने: