मैं आया था रेल में | Masoom Sharma | Lyrics

हरियान्वी एल्बम के न्यू सॉन्ग में आवाज मासूम शर्मा ने दी हैं। मैं आया था रेल में गाने के नरेश ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक राँझा म्यूजिक ने दिया हैं। मंजीत मोर और रेचल शर्मा ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

लड़की के रूप रंग को देखकर पहली ही नजर में आशिक उसे अपना दिल दे बैठा हैं और वो रेल में आया था गौरी लाल पीले रंग का जम्फर पहनकर वो स्टेशन पे खड़ी थी। सुबह का समय था और जब उसका चेहरा आशिक के सामने आया तो किसी हीरोइन से कम नहीं लग रही थी। हमेशा आशिक उसके ख्वाबो ख्यालो में खोया रहता है।

Main Aaya Tha Rail Mein Song Lyrics

एक छोरी मैंने मार गई करवा ऐसी कार गई
लाल और पीला जम्फर उसका लागे फूलझड़ी
मैं आया था रेल में वा टेशन पे खड़ी
एक छोरी मैंने मार गई

सुबह सुबह की बात रे छोरो छ का टेम था
कैटरिना ने चूके कोन्या चेहरा सेम था
मैं गाड़ी के तले पड्या एक दूजे ने खड्या करया
एक दम रे छोरो नजर उसकी मेरे पे पड़ी
मैं आया था रेल में वा टेशन पे खड़ी
एक छोरी मैंने मार गई

न्याड़ घूमाके चाली रे जद बाली इशारा करके
जितने मजनू उड़े खड़े थे चक्कर खाके पड़ गए
भूरी भूरी खाल थी मुरगाइ सी चाली थी
सैंडल उसकी जली उहलि रे श्याल की कली
मैं आया था रेल में वा टेशन पे खड़ी
एक छोरी मैंने मार गई

अन्य हरियान्वी गाने :