नाथ 2 | TR Panipat | Lyrics

हरियान्वी एल्बम के न्यू सॉन्ग में आवाज टी.आर पानीपत ने दी हैं। नाथ 2 गाने के बोल आकाश जांगड़ा ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक टी.आर पानीपत ने दिया हैं। आकाश जांगड़ा और आइना मिटैन ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

प्रेमी अपनी प्रेमिका को छोड़के तपस्या करने लगा हैं। एक छोटी सी मुलाकात के लिए प्रेमी अपनी प्रमिका को मना रहा हैं पर प्रेमिका अपने घरवालों को डर से उससे मिल नहीं रही हैं। प्रेमी को प्रेमिका का प्यार झूठा लगने लगा हैं और वो एक मौका पाते ही अपनी प्रेमी सारी इच्छाओ को पूरा करेगी। प्रमिका अपने प्रेमी को मिलने का वादा करती रहती हैं लेकिन कभी मिलने नहीं पहुंच पाई हैं।

Nath 2 Song Lyrics

जे मैंने छोड़के चला गया तू यो जग करलेगा हासनाथ मैं
मैं थारे प्यार की प्यासीनाथ मैं थारे प्यारे की प्यासी

हो सुनके अलक मैं थारी ऊपर ते नीचे आई
इसी शान मैंने देखी ना कई घनना
मेरा साथ जे एकबर दे दो मैं बनके रहूगी दासी
मैं थारे प्यार की प्यासीनाथ मैं थारे प्यारे की प्यासी

तू करता तपस्या थारी तो मन में प्यार यो जाग्या
आज यो भाग मेरा जाग्या ना था कहा कहा चिमटा बाज्या
इब जीना मरना गेल तेरी लग वादों चाहे फांसी
मैं थारे प्यार की प्यासीनाथ मैं थारे प्यारे की प्यासी

अन्य हरियान्वी गाने :