पड़ोसन | SV Morkhi,TR | Lyrics

नया हरियानवी रोमांटिक सॉन्ग पड़ोसन जिसमे आवाज एस.वी मोरखीटी.आर ने दी हैं। राकेश मोहब्बतपुरिया ने गाने के प्यारे से बोल लिखे हैं। संजय वर्मा और पूजा हूडा अभिनीत गीत का निर्देशन बृजेश लडवाल ने किया हैं। टी.आर व जी.आर ने गाने का शानदार म्यूजिक कम्पोज किया हैं।

गोरे मुखड़े पे ओढ़नी की आड़ में पड़ोसन अलग ही नजर आ रही हैं और उस जैसी पुरे गांव में कोई नहीं हैं। उसे फुर्सत में रहकर राम ने बनाया हैं उसकी भरी जोबन की खेती को सब उजाड़ना चाहते हैं। जब साडी पहनले तो एकदम परी की तरह लग रही हैं।

Padosan Song Lyrics

रे कदे कदे दिखे रहवे भेड़ के कुवाड रे
पड़ोसन सै मेरी कुसता जुगाड़ रे

फुरसत सी लाके बनाई राम ने
फेल करेगी लागे सै तू सारे गांव ने
तेरे जोबन की खेती कोई करदे रे उझाड़ रे
पड़ोसन सै मेरी कुसता जुगाड़ रे

साडी में लागे तू पटाखा सा रे
तू 20-21 साल का धमाका सा रे
गोरे मुखड़े पे करगी वा ओढ़नी की आड़
पड़ोसन सै मेरी कुसता जुगाड़ रे

रहवसे जितर तेरा फिट रे सै तू
सजंय वर्मा मोरखी के हिट सै रे तू
राकेश मोहब्बतपुरिया आला के ध्यावै तेरे लाड रे
पड़ोसन सै मेरी कुसता जुगाड़ रे

अन्य हरियान्वी गाने: