पन्गा ना होजा | Raj Mawar, GD Kaur | Lyrics

बृजेश लडवाल निर्देशित हरियान्वी एल्बम सॉन्ग पन्गा ना होजा में आवाज राज मावर और जी.डी कौर ने दी हैं। गाने के बोलअजमेर बलंभिया ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक सपना स्टूडियो ने दिया हैं। प्रांजल अत्री व शिवानी राघव ने इस लेटेस्ट गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई है।

सज धज के सजनी कही घूमने जा रही हैं उसकी चाल मस्तानी को देखकर आशिको में पन्गा हो रहा हैं। उसके पैरो में मलकडी वाली और उसके काली चोटी चलने पर लहरा रही हैं। सजनी आशिको को पटियाला सूट में बहुत क्यूट लग रही हैं और आशिक उसके आगे पीछे घूम रहे हैं।

Panga Na Hoja Song Lyrics

सज धज के ने कित चाली तू होके कसूती प्यारी की
फेर किथे पन्गा ना होजा दिखे रे किथे पन्गा ना होजा

एक परदेशी पे दिल मेरा आग्या होग्या उस ते प्यार
मिलण मैंने जाना सै उस ते

पैरा में जुती मलकड आली ढुंगे पे लटके चोटी काली
राम की सु घनी सुथरी लागे या पटियाला सलवार की
फेर किथे पन्गा ना होजा दिखे रे किथे पन्गा ना होजा

जुती भी इसकी चोटी भी उसकी मेरे हुस्न की कोटी भी उसकी
मैं राधा वो श्याम मेरा जिसकी खातिर कर्या श्रृंगार
मिलण मैंने जाना सै उस ते

किसके पाछे तू होरी सै भोली कोण बतादे तेरी ले जागा डोली
नाम बतादे और गांव बतादे कोण तेरा भरतार
फेर किथे पन्गा ना होजा दिखे रे किथे पन्गा ना होजा

खास चौबीसी में गांव सै उसका अजमेर सिंह नाम सै उसका
लिखे कविता गाने गावे मेरा बलंभिया यार
मिलण मैंने जाना सै उस ते

अन्य हरियान्वी गाने: