सुरडी | Raj Mawar, Mahi Chauhan | Lyrics

मंदीप राणा और अंजलि राघव अभिनीत हरियानवी गाने का निर्देशन राज गुर्जर ने किया हैं। सुरडी सॉन्ग में आवाज राज मावरमाही चौहान ने दी हैं। गीत के बोल अशोक सोरखी ने लिखे हैं। वी राज बंधू ने गाने का म्यूजिक कम्पोज किया हैं।

गौरी की जवानी के जिक्रे पुरे गांव में चल रहे हैं और लडके उसे देखकर डोरे डाल रहे हैं। पहले गौरी दस दस दिन में नहाया धोया करती थी। गौरी अब स्कूल छोड़के कॉलेज जाने लगी हैं और अपने ससुराल में जाने पर वो रोज नये नये पहनेगी।

Surdi Song Lyrics

घणी सुरडी होया करती छोरे डोरे डालन लाग्ये
तेरी मारे जोर जवानी न्यू तेरे जिक्रे चालन लाग्ये

जवानी हुई सै छोरी जिक्रे घर में होवण लाग्ये
घर के सुणले जान मेरी इब छोरा टोवन लाग्ये

दस दस दिन रे छोरी तू नहाया धोया करती
नादान उम्र थी वा मेरी मैं पागल हो गया करती
नयी नयी बदले तू तैयारी रे तू घणी गिरकावन लागी
स्कूल छोड़के इब छोरे मैं कॉलेज जावण लागी
इब बता घर के ब्यूटी पार्लर घालन लागे
तेरी मारे जोर जवानी न्यू तेरे जिक्रे चालन लाग्ये

सांसरे में पहन के चालू रोज रोज नये बाणे मैं
इब तो फ्रूट सलाद चलेगा जान मेरी तेरे खाने में
शोर शौक इस्या आग्या धुन सुनके तेरे गाने की
टी.वी में देखिया कर मूवी ये मनदीप राणे की
इब तो मेरा नाम बदल गया मेरे गाने चालन लाग्ये
तेरी मारे जोर जवानी न्यू तेरे जिक्रे चालन लाग्ये

अन्य हरियान्वी गाने :