सूरमा | TR Panchal , Mahi Panchal | Lyrics

हरियान्वी एल्बम का सूरमा, जो की एक मजेदार सॉन्ग हैं, इसमे आवाज टी.आर पांचल और माही पांचल ने दी हैं। गाने के बोल मोनी फोगाट ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक टी.आर रोहतक ने दिया है। पंकज कुंडारिया और शिखा राघव ने इस गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं।

अपनी आँखों सुरमा डालके गौरी 100-100 बल खाके चलती हैं और उसकी चर्चा पुरे गांव में हो रही हैं। उसकी भरी जवानी को देखकर आशिक अपने मन पर काबू नहीं रख पा रहे हैं और उसी के आने का इंतजार करते रहते हैं। उसके गोरे रंग को कही नजर ना लग जाए इसलिए काला टिका लगाकर आ रही हैं। रोज रोज नये कपडे पहनके
आशिको का लहू जलाती हैं।

Surma Song Lyrics

छोरी सूरमा ना घाल्या कर 100-100 बलखा ना चाल्या कर
कीते अकेली ना जाया कर तेरी चर्चा चार छपेरे
बचके रहिया कर तू कोई लाड़ लड़ाजा तेरे

ना बात-बात पे टोक्या कर ना आंदी जांदी रोकया कर
ना घना फालतू बोल्या कर ख्यो दिल में आग लगा ली
गोरा रंग से मेरा मैं तेरी बुरी नज़र ने खाली

दिन में बदले दस बार ये सूटा की लाइन लगारी से
आंदे-जांदे छोऱा की तू सुध भुलारी से
आंदे-जांदे छोऱा की तू सुध भुलारी से
अपने आपा बचना कोई हाथ फेर जा तेरे
बचके रहिया कर तू कोई लाड़ लड़ाजा तेरे

इतना कूल तू हे बता मेरी ज़ोर जवानी मारे कोई
टोक मेरे ना लागे कोई नू मा नज़र रोज उतरे
मेरी बड़ाई करने की तने रट लगाली
गोरा रंग से मेरा मैं तेरी बुरी नज़र ने खाली

कदे होज़ा ना कबाड़ा तेरो रूप यो गंडासा
हर बाद या माँगया तू चोरी नासे रासा रो
घनी खुल के ना हास्या कर तू चढ़ते रोज मंडरे
बचके रहिया कर तू कोई लाड़ लड़ाजा तेरे

मैं हुई शवासन छोरे क्यो कर दिल ने डाटू
फोगाट पे मेरा मन आया उसने कीकर नटू
नो-नो गेया जंगी मानने कितनी बार बटली
गोरा रंग से मेरा मैं तेरी बुरी नज़र ने खाली

अन्य हरियान्वी गाने :