तसल्ली | Amjad Khan | Lyrics

अमजद खान की आवाज़ में तसल्ली हरियानवी गीत वॉइस ऑफ़ हार्ट म्यूजिक की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। इस गीत के बोल साहिर चंद ने लिखे हैं और म्यूज़िक टी.आर व गौरव ने की हैं। साहिर चंद निर्देशित गाने में अमजद खान, अर्मीन सय्यद और नज़ीम मलिक अहम किरदार में नज़र आएँगे।

प्रेमिका को देखकर प्रेमी के दिल को राहत मिली हैं। पहले कभी प्रेमी का दिल किसी के लिए धड़कता नहीं था आज वो अपनी प्रेमिका के लिए तड़प्प रहा हैं। अब वो ही उसकी शाम हैं सवेरा और दिन हैं। अगर उसे मोहब्बत नहीं तो प्रेमी को जिंदगी में इतनी जीनत नहीं होती।

Tasalli Song Lyrics

तजली मिल गयी जबसे तेरी चाहत की
तसल्ली मिल गयी इस दिल को राहत की
के तू ही मेरी शाम तू ही मेरा सवेरा
तू ही मेरी राह तू ही दिन मेरा

पहले कभी ऐसे धड़का नहीं था
किस के लिए दिल तड़प्पा नहीं था
जबसे तूने इसको छुआ हैं
खुदा की कसम कुछ हुआ हैं
के तू ही मेरी शाम तू ही मेरा सवेरा
तू ही मेरी राह तू ही दिन मेरा

अगर हमें तुमसे मोहब्बत नहीं होती
जिंदगी में इतनी जीनत ना होती
हम राहे तू जो चला हैं इश्क़ मेरा मुकम्बल हुआ हैं
के तू ही मेरी शाम तू ही मेरा सवेरा
तू ही मेरी राह तू ही दिन मेरा

अन्य हरियान्वी गाने: