बैरण की घणी याद सतावे | TR | Lyrics

अमन चांवरिया, प्रिय चौधरी, सपना खत्री और नीरज बिशानिया ने बैरण की घणी याद सतावे से लेटेस्ट गाने में अपनी अहम भूमिका निभाई हैं। हरियान्वी एल्बम का विडियो, जो की एक मजेदार सॉन्ग हैं, इसमे आवाज टी.आर ने दी हैं। सनी पंचाल ने गाने के बोल ने तैयार किए हैं जबकि म्यूज़िक टी.आर म्यूजिक ने दिया हैं।

प्रेमिका के द्वारा प्यार में धोखा खाने पर आशिक पूरी तरह से टूट चूका हैं और कभी कभी वो अपनी यादो को याद करते हुए पेग ले लेता हैं। अब वो एक पागल प्रेमी की तरह उसकी यादो के सराह जी रहा हैं और उसके बिना आशिक का जीना दुस्वार सा होगया हैं। अब वो अपने दिल का दर्द किसे जाकर बताये।

Yaad Bairan Ki Satave Song Lyrics

मैं रोज रोज ना पिया करू बस टेम काटना होजा सै
बैठे जद यारा की टोली दिल ने डाटना होजा सै
जिसने बोलण खातिर यार पेग बनावे सै
अरे पिये पाछे बैरण की घणी याद सतावे सै

मैं शीशे की जु टूट गया दिल में जखम में लागे सै
दिल में रहवन आले दर्द पराया भागे सै
मेरी रो रो रात कटे सै वा मौज उड़ावे सै
अरे पिये पाछे बैरण की घणी याद सतावे सै

कदे खाली गिलासी होवे ना किस्मत ने तमाशा बनाया
ना चैन मिले यारो मैंने उस पापन का सै साया
या दारू दोबन बनगी इब साथ निभावे सै
अरे पिये पाछे बैरण की घणी याद सतावे सै

अन्य हरियान्वी गाने :